इनकम टैक्स रिटर्न की पूरी जानकारी –

आमदनी पर केंद्र सरकार कर वसूलती है। और  इसे आयकर या इनकम टैक्स कहते हैं।  आयकर से होने वाली कमाई को सरकार अपनी गतिविधियों और जनता को सुविधा और सेवाएं देने के लिए इस्तेमाल करती है। और  साल में एक बार आपको एक आईटीआर फॉर्म में सरकार को आमदनी, खर्च, निवेश और टैक्स देनदारी के बारे में बताना होता है इसे आयकर रिटर्न (इनकम टैक्स रिटर्न) कहते हैं।

आप बैंक डिटेल्स गलत भरेंगे या कुछ गड़बड़ कर देंगे तो आपको रिफंड मिलने में देरी हो सकती है. इसके अलावा बैंक अकाउंट प्रीवैलिडेट नहीं होने पर भी रिफंड मिलने में देरी हो सकती है।

वहीं, अगर आपका आईटीआर वैरिफाइड नहीं होगा तो भी रिफंड मिलने में समय लगेगा. बता दें कि आयकर दाता का इनकम टैक्स किसी वित्त वर्ष में उसके अनुमानित निवेश दस्तावेज के आधार पर पहले ही काट लिया जाता है. जब वित्त वर्ष के अंत तक वह फाइनल डॉक्‍यूमेंट्स जमा करता है, तब उसका ज्यादा काटा गया टैक्स वापस लौटा दिया जाता है. इसके लिए उसे आईटीआर दाखिल कर रिफंड के लिए अप्लाई करना पड़ता है.

कोई व्यक्ति अगर करयोग्य आमदनी के दायरे में नहीं आता तब भी वह आयकर रिटर्न भर सकता है। और आय को  नियमित रूप से आयकर रिटर्न भरने से वास्तव में आप अपनी आमदनी का एक दस्तावेजी साक्ष्य जमा कर लेते है। जो किसी वक्त अपनी आमदनी साबित करने में आपके काम आ सकता है.।

कैसे पता करें इनकम टैक्स रिफंड का स्टेटस आपका —

1. आप www.incometaxindia.gov.in या www.tin-nsdl.com पर ऑनलाइन अपने रिफंड का स्टेटस आसानी से  पता कर सकते हैं।
2. इनमें से किसी भी वेबसाइट पर लॉनिग करें और Status of Tax Refunds टैब पर क्लिक करें।
3. अपना पैन नंबर और एसेसमेंट ईयर उसमे डालें जिस साल के लिए रिफंड पेंडिंग है।
4. अगर डिपार्टमेंट ने रिफंड प्रोसेस कर दिया है । तो इसके लिए आपको एक मेसेज मिलेगा मोड ऑफ पेमेंट, रेफरेंस नंबर, स्टेटस और रिफंड की तारीख का जिक्र होगा.
5. अगर रिफंड प्रोसेस नहीं हुआ है या नहीं दिया गया है तो वैसा मेसेज आएगा।

See Also  जीएसटी के अंतर्गत दो राज्यों के बीच का व्यापार (अंतरप्रांतीय बिक्री - Interstate Sale)

ई-फाइलिंग पोर्टल पर कैसे चेक करें  अपने रिटर्न का स्‍टेटस—

1. क्लिक करके आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल में एंटर करें. रिटर्न / फॉर्म देखें.
2.अकाउंट टैब पर जाएं और इनकम टैक्स रिटर्न सेलेक्ट करें। तथा  सबमिट पर क्लिक करें।
3. पावती (acknowledgement) नंबर पर क्लिक करें।
4. इनकम टैक्स रिफंड की स्थिति के साथ आपकी रिटर्न डिटेल दिखाने वाला पेज दिखाई देगा।

उम्मीद करती  हूँ । आपको  यह समझ में आया होगा।  अगर आपको  ये आपको पसंद आया तो इसे social media पर  अपने friends, relative, family मे ज़रूर share करें।  जिससे सभी को  इसकी जानकारी मिल सके।और कई लोग इसका लाभ उठा सके।

यदि आप इससे संबंधित कोई सुझाव या जानकारी देना चाहते है।या आप इसमें कुछ जोड़ना चाहते है। या इससे संबन्धित कोई और सुझाव आप हमे देना चाहते है।  तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में जाकर अपने सुझाव दे सकते है।

हमारी Hindi law notes classes के नाम से video भी अपलोड हो चुकी है तो आप वहा से भी जानकारी ले सकते है।  कृपया हमे कमेंट बॉक्स मे जाकर अपने सुझाव दे सकते है।और अगर आपको किसी अन्य पोस्ट के बारे मे जानकारी चाहिए तो उसके लिए भी आप उससे संबंधित जानकारी भी ले सकते है।

1 thought on “इनकम टैक्स रिटर्न की पूरी जानकारी –”

Leave a Comment