एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) क्या होता है?

What is Annual General Meeting- Hindi Law Notes

इसे आम भाषा मे एजीएम  कहते है इसका  फुल फॉर्म “Annual General Meeting” होता है | वहीं इसक हिंदी में उच्चारण “एनुअल  जनरल मीटिंग” होता है और इसका हिंदी में अर्थ “वार्षिक आम बैठक” होता है | यह  एक ऐसी बैठक होती है। जिसे साल में सिर्फ एक ही बार आयोजित किया जाता है |

कंपनी कानून के तहत कॉरपोरेट के लिए वित्त वर्ष की समाप्ति के छह महीने के भीतर एजीएम आयोजित करना जरूरी है। इस तरह मार्च 2021 को समाप्त हुए वित्त वर्ष के लिए एजीएम 30 सितंबर तक आयोजित की जानी थी।  लेकिन अब यह समय सीमा बढ़ा दी गई है।

मंत्रालय ने 23 सितंबर को एक संचार में आरओसी से कहा कि कंपनियों को 2020-21 के लिए एजीएम आयोजित करने की समय सीमा नियत तारीख से दो महीने के लिए बढ़ाने की सलाह दी जाती है।

एनुअल जनरल मीटिंग,वार्षिक आम बैठक (एजीएम) एक औपचारिक बैठक होती है, जिसका आयोजन प्रमुख रूप से साल में केवल एक ही बार किया जाता है |  वहीं वर्तमान समय में एजीएम संचालन, दीर्घकालिक योजना और रणनीति,  वित्तीय डेटा के विश्लेषण को संबोधित करने के लिए एक कंपनी के स्टॉकहोल्डर (शेयरधारकों) को अपने वरिष्ठ प्रबंधन के साथ इकट्ठा करने की अनुमति प्रदान करता है।

यह प्रत्येक निगमित फर्म के लिए जरूरी होता है यह वार्षिक आम बैठक में, अध्यक्ष या संगठन के अध्यक्ष बैठक की अध्यक्षता की जाती हैं| इसके साथ ही आयोजित की जाने वाली इस बैठक में सचिव मिनट तैयार करता है और महत्वपूर्ण कागजात को पढ़ने की अनुमति दी जाती है । इस बैठक में कोषाध्यक्ष एक वित्तीय रिपोर्ट पेश कर सकते हैं और अन्य अधिकारियों, निदेशक मंडल और समितियां अपनी रिपोर्ट  पेश कर सकती हैं।

See Also  ट्रस्ट का अर्थ ,परिभाषा तथा उद्देश्य क्या है?

एनुअल जनरल मीटिंग की अध्यक्षता —

कंपनी के चेयरपर्सन के द्वारा एनुअल जनरल मीटिंग ,वार्षिक आम बैठक की अध्यक्षता की जाती हैं।  जिसमें अन्य सभी निदेशक भी शामिल किये जाते हैं। इसके साथ ही कंपनी सचिव भी वार्षिक आम बैठक में शामिल होते है।  और यह  लिखित नोट्स  लेते है। तथा  प्राप्त किये जाने वाले नोट्स में मुख्य कार्यवाही और निर्णय मिनटों के रूप में दर्ज किए जाते हैं।

इसके बाद बैठक के आधिकारिक रिकॉर्ड के रूप में अनुमोदन करने के लिए कुछ ही मिनट बाद शेयर धारकों को बाँट भी दिए जाते है | यह प्रमुख रूप से व्यक्तिगत शेयर धारकों को सीधे बोर्ड पर सवाल उठाने की अनुमति प्रदान करता है।  वहीं वार्षिक आम बैठक को बैठक को आयोजित करने के बाद तब तक आगे नहीं  बढ़ा सकते है, जब तक कि कंपनी के चार्टर में अपेक्षित कोरम द्वारा निर्धारित पर्याप्त शेयर धारक प्रतिनिधित्व किया जाए |  

AGM एनुअल जर्नल मीटिंग करना क्यों आवश्यक है —

जो भी  कंपनी  शेयर मार्केट में लिस्टेड है उन सभी को लिस्टिंग के 18 महीने के बाद हर साल AGM करना आवश्यक होता है जो की किसी भी कंपनी के शेयर जिसे हम खरीदते हैं । तो एक तरह से हम कंपनी के मालिक बन जाते हैं एक हिस्से के तो ऐसे में यह जानना जरूरी है कि कंपनी अभी वर्तमान समय में क्या काम कर रही है और आने वाले समय में वह क्या काम करेगी इस कारण से किसी भी कंपनी को AGM करना जरूरी है !

AGM किस समय होता है

See Also  Membership Company Act 2013

कोई भी कंपनी अपना AGM किसी भी दिन (सरकारी छुट्टी और केंद्र सरकार के द्वारा जारी की गई छुट्टी को छोड़कर) हफ्ते के किसी भी दिन सुबह 9:00 से 6:00 के बीच कंपनी AGM कर सकता है ! SEBI के नियम के मुताबिक हर कंपनी को AGM करना जरूरी होता है।

उम्मीद करती  हूँ । आपको  यह समझ में आया होगा।  अगर आपको  ये आपको पसंद आया तो इसे social media पर  अपने friends, relative, family मे ज़रूर share करें।  जिससे सभी को  इसकी जानकारी मिल सके।और कई लोग इसका लाभ उठा सके।

यदि आप इससे संबंधित कोई सुझाव या जानकारी देना चाहते है।या आप इसमें कुछ जोड़ना चाहते है। या इससे संबन्धित कोई और सुझाव आप हमे देना चाहते है।  तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में जाकर अपने सुझाव दे सकते है।

हमारी Hindi law notes classes के नाम से video भी अपलोड हो चुकी है तो आप वहा से भी जानकारी ले सकते है।  कृपया हमे कमेंट बॉक्स मे जाकर अपने सुझाव दे सकते है।और अगर आपको किसी अन्य पोस्ट के बारे मे जानकारी चाहिए तो उसके लिए भी आप उससे संबंधित जानकारी भी ले सकते है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.