गैर- जमानती अपराध क्या होता है। गैर जमानतीय अपराध कौन कौन से है।

गैर- जमानती अपराध वे अपराध होते हैं । जिनके लिए जमानत नहीं दी जा सकती। जैसे कि  यदि किसी व्यक्ति पर किसी गैर- जमानती अपराध के लिए मामला दर्ज किया गया है, तो वह अपने अधिकार के रूप में जमानत का दावा नहीं कर सकता है।

 दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 2 (a) में प्रावधान है कि गैर- जमानती अपराध वे अपराध हैं जो संहिता की पहली अनुसूची के अनुसार जमानती नहीं होते हैं।

 निम्न प्रकार के  गैर- जमानती अपराधों के रूप में दंड प्रक्रिया संहिता के अंदर सूचीबद्ध किया गया है।

1. धारा 121   भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ना या बढ़ावा देने या प्रयास करना या उकसाना इसमे आजीवन कारावास या 10 साल तक के जुर्माने के प्रावधान है।
2. धारा 124 A देशद्रोह (सेडिशन)   से संबंधित है। इसमे कारावास के साथ-साथ जुर्माना या यह 3 साल की कैद के साथ-साथ जुर्माना या सिर्फ जुर्माना भी हो सकता है।
3. धारा 131   विद्रोह (म्यूटिनी) को उकसाना या किसी सैनिक, नाविक या वायुसैनिक को बहकाने का प्रयास करना। इसमे  आजीवन कारावास या 10 साल के जुर्माने के साथ।
4. धारा 172   सम्मन की तामील (सर्विस) से बचने के लिए फरार होना।  इसमे एक माह की कैद या एक हजार रुपये जुर्माने के साथ।
5. धारा 232   भारतीय सिक्के का कुटकरण (काउंटरफीटिंग)।   इसमे उम्रकैद या 10 साल की कैद के साथ जुर्माना भी।
6. धारा 238   कुटकृत (काउंटरफिटेड) भारतीय सिक्कों का आयात (इंपोर्ट) या निर्यात (एक्सपोर्ट)।  इसमे उम्रकैद या 10 साल की कैद के साथ जुर्माना भी।
7. धारा 246   कपटपूर्वक या बैमानी से सिक्के का वजन कम करना या मिश्रण परिवर्तित करना। इसमे जुर्माने के साथ 3 साल की कैद।
8. धारा 255   सरकारी स्टाम्प का कुटकरण।   इसमेजुर्माने के साथ 3 साल की कैद।
9. धारा 274   औषधियों का अपमिश्रण (एडल्ट्रेशन)।   इसमेछह माह की कैद के साथ एक हजार रुपये का जुर्माना।
10. धारा 295 A एक जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण किए गया कार्य जो किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं का अपमान करके उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत (इंसल्ट) करने का इरादा रखता है। इसमे जुर्माने के साथ 3 साल की कैद।
11. धारा 302   हत्या के लिए दण्डइसमेआजीवन कारावास या मृत्युदंड।
12. धारा 304   हत्या की कोटि में न आने वाले अपराधिक मानव वध के लिए दण्ड।इसमेजुर्माने के साथ 10 साल की कैद।
13. धारा 304 B दहेज मृत्यु आजीवन कारावास तक 7 साल की कैद।
14. धारा 306   आत्महत्या के लिए उकसानाइसमेजुर्माने के साथ 10 साल की कैद।
15. धारा 307   हत्या करने का प्रयत्न।   जुर्माने के साथ 10 साल की कैद।
16. धारा 308   गैर इरादतन हत्या करने का प्रयास जो हत्या की कोटि में नहीं आता।  इसमे जुर्माने के साथ 3 – 7 साल की कैद
17. धारा 369   10 साल से कम उम्र के बच्चे का अपहरण (एबडक्शन)। इसमे 7 महीने की कैद या जुर्माने के साथ।
18. धारा 370   व्यक्ति की तस्करी (ट्रैफिकिंग) इसमे7 से 10 साल की कैद या जुर्माने के साथ।
19. धारा 376   बलात्कार (रेप) के लिए सजा   इसमेआजीवन कठोर कारावास या कम से कम 7 वर्ष का कारावास।
20. धारा 376 D   सामूहिक बलात्कार (गैंगरेप) इसमे20 साल की कैद, जिसे उम्र भर के लिए बढ़ाया जा सकता है।
21. धारा 377   प्रकृति के विरुद्ध किया गया अपराध इसमे10 वर्ष की कैद, जिसे आजीवन बढ़ाया जा सकता है।
22. धारा 379   चोरी के लिए सजा।  इसम 3 साल की कैद और जुर्माने के साथ।
23. धारा 384   जबरन वसूली के लिए सजा इसमे4 साल की कैद।
24. धारा 392   लूट के लिए सजा। इसमेजुर्माने के साथ 3 साल की कैद।
25. धारा 395   डकैती के लिए सजा।   इसमे10 साल की कैद और जुर्माने के साथ।
26. धारा 406   आपराधिक विश्वासघात (क्रिमिनल ब्रीच ऑफ ट्रस्ट) के लिए सजा।  इसमे3 साल की कैद और जुर्माने के साथ।
27. धारा 411   चोरी की संपत्ति बेईमानी से प्राप्त करना। इसमे3 साल की कैद और जुर्माने के साथ।
28. धारा 420   धोखाधड़ी और बेईमानी से संपत्ति की सुपुर्दगी (डिलीवरी) के लिए प्रेरित करना। इसमे 7 साल की कैद और जुर्माने के साथ।
29. धारा 489 A   करेंसी नोटों या बैंक नोटों का कुटकरण।इसमे आजीवन कारावास और जुर्माने के साथ।
30. धारा 498 A एक महिला के पति या उसके रिश्तेदारों द्वारा उसके साथ क्रूरता करना। इसमे 3 साल की कैद और जुर्माने के साथ।

See Also  कोई भी बिल कानून कैसे बनता है।

 हमारी Hindi law notes classes के नाम से video भी अपलोड हो चुकी है तो आप वहा से भी जानकारी ले सकते है।  कृपया हमे कमेंट बॉक्स मे जाकर अपने सुझाव दे सकते है।और अगर आपको किसी अन्य पोस्ट के बारे मे जानकारी चाहिए तो उसके लिए भी आप उससे संबंधित जानकारी भी ले सकते है
यदि आप इससे संबंधित कोई सुझाव या जानकारी देना चाहते है।या आप इसमें कुछ जोड़ना चाहते है। या इससे संबन्धित कोई और सुझाव आप हमे देना चाहते है।  तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में जाकर अपने सुझाव दे सकते है।

Leave a Comment