इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के फायदे और नुकसान क्या क्या है।

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी/IT/Information Technology आज के आधुनिक युग के लिए एक वरदान साबित हुई है। जिसके कारण आए दिन पूरी दुनिया किसी न किसी क्षेत्र में तरक्की कर रही है।और जमीन से लेकर आसमान तक उन्नति कर रही है।  IT/सूचना प्रौद्योगिकी में कंप्यूटर का अविष्कार बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान रखता है। आज कंप्यूटर ने पूरी दुनिया को बदल दिया है। तथा  कंप्यूटर ने सुचना के आदान-प्रदान की सभी दूरियां ख़त्म कर दी है।

 सूचना प्रौद्योगिकी ने पूरे विश्व में लोगों को ऑनलाइन माध्यम से लोगों को संवाद करने का मौका दिया है। संचार प्रौद्योगिकी या सूचना प्रौद्योगिकी के कारण लोग पूरी दुनिया में विभिन्न मुद्दों से अवगत हो रहे हैं।और विश्व मे सबके साथ संवाद स्थापित कर रहे है।

बिज़नेस Business में फायदा-

इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी/IT/Information Technology/सूचना प्रौद्योगिकी के साथ दुनिया भर में  आज बहुत सारे ऑनलाइन/Online और ऑफलाइन Business का उत्थान हुआ है। जिसमे  किसी भी बिजनेस मे टेक्नोलॉजी का उपयोग करने से बहुत सारा समय और पैसा की बचत हो रही है । आज सूचना प्रौद्योगिकी की मदद से सभी प्रकार के व्यवसायों को फायदा हुआ है। जैसे उदाहरण के लिए हम कह सकते है की आज पूरी दुनिया में Amazon, Flipkart, Bangood और Alibaba,snapdeal , swiggy ,zamato  जैसी कंपनी अपना कारोबार कर रही है।

बिजनेस के अंदर इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी/IT/Information Technology, और सूचना प्रौद्योगिकी के आने से कंपनियों को बहुत ही फायदा भी हुआ है। ज्यादातर कंपनियां अपने बिजनेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए और ग्राहकों को बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए  इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी सिस्टम और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग कर रही हैं। इस तकनीक का इस्तेमाल करके ग्राहकों को कॉल, ईमेल या ऑनलाइन सपोर्ट से किसी समस्या का समाधान तुरंत मुहैया करवाया जा सकता है। इस तकनीक से ग्राहकों के साथ अच्छे रिश्ते बनाना और ग्राहकों की राय जानना बहुत ही आसान हो गया है। तथा उनकी समस्या का तुरंत समाधान करना संभव हो पाया है।

See Also  कंपनी क्या है। कंपनी की परिभाषा और कंपनी के लक्षण क्या हैं? पार्टनर्शिप और कंपनी तथा फ़र्म मे क्या अंतर हैं।

अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी Space Technology में विकास-

अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी/Space Technology  में कितना विकास हुआ है  उसका श्रेय  सूचना प्रौद्योगिकी की ही देन है। इसमें अंतरिक्ष से संबंधित बहुत सी Technology/तकनीक का प्रयोग किया जाता है।  जैसे स्पेस प्रोजेक्ट/Space Project, अंतरिक्ष रिसर्च/Research, स्पेस ट्रेवल/Travel, अंतरिक्ष यान आदि।

आज NASA और ISRO इसी तकनीक की मदद से अपने उपग्रह अंतरिक्ष में स्थापित करने में सफलता हासिल की है।  स्पेस टेक्नोलॉजी की मदद से सैटेलाइट के द्वारा मौसम की जानकारी पता करना, GPS तकनीक का इस्तेमाल, सैटेलाइट से टेलिकास्ट, सूचना का आदान-प्रदान जैसी बहुत सी टेक्नोलॉजी उपलब्ध है,। ये सभी टेक्नोलॉजी हमे ज्यादा उन्नत और सम्पन्न बना रही हैं। अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का प्राकृतिक आपदाओं का पता लगाने और उनका नियंत्रण करने में बड़ा योगदान रहा है। और आज ऐसे बहुत से आधुनिक उपकरण भी है जो आज अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के कारण ही निर्मित किये जा सके हैं।

शिक्षा में टेक्नोलॉजी Education Technology के क्षेत्र मे –

आज की आधुनिक जमाने की शिक्षा प्रणाली बही बहुत ही विकसित है ।  अब शिक्षक को  किसी चीज को सीखाने के लिए  श्यामपट्ट की आवश्यकता नहीं  हैं।  वो बच्चों को कंप्यूटर तकनीक के माध्यम से कोई भी विषय अच्छी तरह से सीखा पा रहे हैं। अब शिक्षा में वर्चुअल/Virtual क्लास आधुनिक शिक्षा का जरिया बन रहे है। जिससे वीडियो , ऑनलाइन माध्यम से  रचनात्मक तरीके से छात्रों को शिक्षा दे रहे हैं। Education Technology के द्वारा शिक्षण संबंधित सभी गतिविधियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

आज छात्र इंटरनेट/Internet के द्वारा अपनी पढ़ाई के जरूरी Notes, PDF या वीडियो डाऊनलोड कर सकते हैं। फ्री मे ज्ञान प्राप्त कर सकते है। टेक्नोलॉजी की मदद से छात्र स्वयं ही बिना किसी दूसरे की मदद से किसी विषय को पढ़ सकते हैं। खुद से  सिख सकते हैं। कंप्यूटर और इंटरनेट के द्वारा हर प्रकार की जानकारी आसानी से उपलब्ध हो जाती है।आज कोरोना के समय मे  कंप्यूटर का उपयोग छात्रों द्वारा नोट्स को संग्रह करने के लिए और प्रोजेक्ट/Project बनाने के लिए तथा शिक्षा प्राप्त करने के लिए  किया जा रहा है। शिक्षा में टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से छात्र भविष्य के लिए टेक्नोलॉजी में बेहतर बन रहे हैं। इसी क्रांति के कारण ज्यादा से ज्यादा लोग कंप्यूटर टेक्नोलॉजी के माध्यम से सफलता हासिल कर रहे है।

See Also  REGISTRATION ACT 1908 रजिस्ट्रेशन क्या होता है? यह क्यों जरूरी है?

मेडिकल टेक्नोलॉजी Medical Technology में विकास-

ऐसा कोई भी क्षेत्र अछूता नहीं रह गया है जहाँ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ने जगह ना बनाई हो। आज देश मे  मेडिकल या चिकित्सा क्षेत्र को बहुत ही विकसित मेडिकल टेक्नोलॉजी/Medical Technologyके माध्यम से ही  बनाया है। आज ऐसी बहुत सी मेडिकल की  मशीन हैं जिससे स्वास्थ्य की विभिन्न समस्याओं का पता आसानी से लगाया जा सकता है।जैसे की सीटी स्कैन ,अल्ट्रासाउंड , m r i आदि  उन्नत टेक्नोलॉजी की मदद जटिल से जटिल ऑपरेशन को आसान बनाया जा रहा है। बीमारियों के विभिन्न प्रकार के परीक्षण या जाँच इसी तकनीक के माध्यम से संभव  हो पाई है।

कृषि प्रौद्योगिकी Agricultural Technology में विकास-

किसी भी देश में वहां की कृषि वव्यस्था का बहुत ही बड़ा योगदान होताहै और भारत तो ऐसा देश है जहा पर 90% लोगकृषि पर निर्भर है।   क्यूंकि कोई भी देश पूर्ण रूप से उद्योगों पर निर्भर नहीं हो सकताऔर  इन उद्योगों को चलाने के लिए सारा कच्चा माल कृषि माध्यमों से ही तैयार होता है।और  कृषि की शुरूआत मनुष्य के लिए शुरू से ही एक मूलभूत आवश्यकता  बनी  रही है। आज यही कारण है कि कृषि पर बहुत से उद्योग आधारित होते हैं।

खेती किसानी में आयी नई टेक्नोलॉजी के उपयोग से किसान कम समय में बहुत काम करके फायदा ले रहे हैं। आज कृषि करने के उन्नत यंत्र जैसे ट्रेक्टर, हार्वेस्टर, सिंचाई वव्यस्था से खेती में पहले से चलते आ रहे पारंपरिक तरीको को छोड़कर नए तरीक़ों  किया जा रहा है। इस टेक्नोलॉजी की मदद से कृषि में उत्पादन बढ़ाने में बड़ा योगदान है। रोबोट्स या ऑटोमैटिक मशीनों  की मदद से कृषि में वो काम भी संभव हो गए है जो एक इंसान के लिए करना नामुमकिन था।

See Also  समामेलन से पूर्व लाभ या हानि (Loss Prior to Incorporation Account) की विधियों का गणना करना

आज उसी खेत मे से जयदा अनाज का उत्पादन किया जा रहा है। अब कृषि भी एक बिजनेस हो गया है। अब खेती करना कठिन नहीं और अब यह उद्योग से कम नहीं रह गया है। इसका विकास मनुष्य का विकास है। जिससे देश आज उन्नति कर रहा है। 

Leave a Comment